Monday, February 19, 2024

भारत का अपना BharOS ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है। | What is India’s own BharOS operating system?

What is India's own bharos operating system?

भारत का अपना BharOS ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है। | What is India’s own BharOS operating system?

बीते दिन iit मद्रास से यह खबर आयी है कि भारत ने अपना इंडिजिनियस ऑपरेटिंग सिस्टम बना लिया है। यह OS मेक इन इंडिया के तहत बनाया गया है। इसकी खासियत हम इस आर्टिकल में आगे जरूर जानेगे।

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट द्वारा गूगल पर दंड लगाया गया था जिसके तहत गूगल को १३०० करोड़ का जुर्माना भरना पड़ा था, यह जुर्माना गूगल को इसलिए देना पड़ा की क्युकी गूगल की मोनोपोली हम ऍण्ड्रॉइड users के लिए नुकशानदायक हो सकती है क्युकी इससे हमारी सिक्योरिटी ब्रीच हो सकती है।

काफी सालो से गूगल ने एंड्राइड में अपनी मोनोपोली बना रखी थी जिसे देखते हुए iiit मद्रास द्वारा bharos लाया जा रहा है जिससे गूगल की मोनोपोली को मार्किट से कम की जा सके।

What is India's own bharos operating system?

Bharos की ख़ासियत क्या है।

  • BharOS की खास बात यह है कि इस ऑपरेटिंग सिस्टम को users के लिए काफी सेफ माना जा रहा है। सिक्योर इसलिए कि आपकी बिना पेर्मिशन के इसमें कोई भी ऍप इनस्टॉल नहीं किया जा सकेगा। जो कि आज इंडिया में जो भी एंड्राइड यूजर है उनके फ़ोन में पहले से ही कई सरे ऍप डले हुए है।
  • BHAROS की में आप अपने मुताबिक कोई भी एप डाल कर चला सकते है जिससे आप आपके सिक्योरिटी ब्रीच की सम्भावनाये कम हो जाती है। मतलब आप गूगल की जगह भी सर्च इंजन डाल कर चला सकते है।
  • इसमें आपको पहले से यूट्यूब, इंस्टग्राम, फेसबुक, इत्यादि ऍप अलग से इनस्टॉल करना पड़ेगा मतलब यह भी आपको पहले से इनस्टॉल नहीं मिलेगा।
  • जैसे कि अभी आपके मोबाइल में कुछ ऍप्स ऐसे है जिसे आप अनइंस्टाल नहीं कर सकते है ऐसा BharOS में नहीं होगा। आपकी मर्जी है आप अपने फ़ोन में इनस्टॉल रखो या ना रखो।

BharOS को किसने बनाया है ?

BharOS को IIT मद्रास की कंपनी (नॉट फॉर profit) के द्वारा बनाया गया है, IIT मद्रास द्वारा आज २४ january को अपने ट्वीट में बताया गया है कि भारत ने अपनी खुद की इंडिगिनियस ऑपरेटिंग सिस्टम बना लिया है। यह इन्क्यूबेटेड फर्म (J & K ops pvt ltd ) द्वारा बनाया गया है।

BharOS को किसने बनाया है

BharOS को IIT मद्रास की कंपनी (नॉट फॉर profit) के द्वारा बनाया गया है, IIT मद्रास द्वारा आज २४ january को अपने ट्वीट में बताया गया है कि भारत ने अपनी खुद की इंडिगिनियस ऑपरेटिंग सिस्टम बना लिया है। यह इन्क्यूबेटेड फर्म (J & K ops pvt ltd ) द्वारा बनाया गया है।

BharOS किन फ़ोन में सपोर्ट करेगा ?

BharOS इंडियन मेड ऑपरेटिंग सिस्टम है जो privecy सेंट्रिक और स्वदेशी होने का दावा करता है। अभी तक डेवलपर्स ने यह साझा है कि वह किनके साथ पार्टनरशिप की योजना बना रहे है लेकिन यह OS उन organizers को प्रोवाइड किया सकता है जिन्हे सुरक्षा और privecy की जरुरत है।

Feathers

१- PASS (प्राइवेट ऍप स्टोर सर्विस)
PASS (प्राइवेट ऍप स्टोर सर्विस) यह फीचर बिलकुल प्ले स्टोर की तरह ही है जिससे आप PASS से कोई भी ऍप अपने फ़ोन में इंस्टॉल कर सकते है मतलब आप अपने फ़ोन में व्हाट्सप्प, इंस्टाग्राम, स्नैपचैट, इत्यादि जैसे ऍप से इनस्टॉल कर सकेंगे .
PASS किसी भी ओर्गनइजेशन और यूजर की गोपनीयता और सुरक्षा के मनको को पूरा करेंगे।

२- NDA (नॉन डिफ़ॉल्ट ऍप )
BharOS NDA (नॉन डिफ़ॉल्ट ऍप ) के साथ आएगा, इसका मतलब आपको कोई भी ऍप preinstalled नहीं मिलेगी जिसमे users एप्स को इनस्टॉल और अनइंस्टाल कर सकते है।

३- NOTA (नेटिव ओवर द एयर )
यह एक अपडेट फीचर है जिससे users का मोबाइल में OS और अप्प्स अपने आप ही अपडेट होंगे।

अपडेट स्वचालित रूप से फ़ोन में डाउनलोड हो सकेंगे जिससे यूजर को मैन्युअली कुछ भी अपडेट करने की जरुरत नहीं होगी। यह बिलकुल एंड्राइड के जैसा ही होगा।

यह हमारे लिए बहुत ही गर्व की बात है यह कदम हमारे देश को आत्म निर्भर बनाने में काफी मदद करेगा और पहले की तरह हमें सुरक्षा और सिक्योरिटी के लिए compromize भी नहीं करना पड़ेगा।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो निचे कमेंट कर इस BharOS के बारे में क्या सोचते है, और इस बारे में आपकी निजी राय जरूर कमेंट करें।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published.